| Psychological trick of successful businessman|एक Entrepreneur को कौनसे Psychological trick successful बनाते हैं

| Psychological trick of successful businessman
| Psychological trick of successful businessman

| Psychological trick of successful businessman | एक सफल बिजनेसमैन कैसे बने

डिजिटल रेगुलेशन के वजह से आज के टाइम पर बिना ज्यादा पैसे खर्च करें अपने खुद का बॉस बन्ना पॉसिबल हो गया है और तभी हमारी कंट्री में एक नया ट्रेंड आया है जोकि है Entrepreneurship. Entrepreneur एक फ्रेंच word Entreprendre जिसका मतलब होता है अंडरटेकर और इंग्लिश वर्ड एंटरप्राइज से मिलकर बना है और तभी Entrepreneurship को डिफाइंड किया गया है एक प्रोसेस की तरह जिसमें एक नया बिजनेस या कंपनी बनाई जाती है उससे जुड़े सारे Risk उठाएं जाते हैं और उस बिजनेस का गोल होता है प्रॉफिट.

इस वक्त इंडिया में टोटल 5 करोड से ज्यादा स्मॉल बिजनेस है एडल्ट पॉपुलेशन 11 परसेंट अर्ली स्टेज Entrepreneur एक्टिविटी मैं इंगेज है सिर्फ 5% इंडियन अपना बिजनेस स्टैंड कर पा रहे हैं 4% लोग अभी बर्डिंग Entrepreneur है यानी वह कोई बिज़नेस खड़ा कर रहे हो जिससे वह फ्यूचर में Entrepreneur बनेंगे यानी इंडिया में लोग Entrepreneur के इधर बढ़ तो रहे हैं क्यों जितनी तेजी से लोगवह भी काफी स्पीड से पर इनमें से बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जो सक्सेसफुल Entrepreneur बन पाते हैं .

यही रीजन है की लोग प्रोफेशन में आ रहे हैं उतनी ही तेजी से लोग अपने बिजनेस बंद कर रहे हैं यह इनसाइड उन लोगों के लिए जरूरी होता है जो सोशल मीडिया पर अपने आप को Entrepreneur बोलते हैं पर उनका बिजनेस कभी प्रॉफिट में आया ही नहीं या फिर वह अपने बिजनेस को काफी समय तक इसे स्टैंड नहीं कर पाए And that नॉन Entrepreneurship Entrepreneur बनने के लिए हमें प्रॉब्लम सॉल्व करना है एट द टाइम पैसे भी कमाना है

Now यह तो हो गई Entrepreneurship की बात इसके बाद question यह आता है की एक इंडिविजुअल लेवल पर कौन से कैरेक्टर स्टिक चाहिए सक्सेसफुल Entrepreneur बनने के लिए Psychological trick of successful businessman . वेल हमारे पास सिक्स ऐसे कैरेक्टर है जो predict कर सकते हैं की एक इंसान सक्सेसफुल Entrepreneur बन पाएगा या नहीं हर क्वालिटी को हम एक एग्जांपल में समझेंगे ताकि हमें इस टॉपिक का एक बढ़िया आइडिया मिल पाए

यह भी पढ़ें :- 

. लड़कियों को बैड बॉय क्यों पसंद होते हैं

. सैक्स के बारे में 23 PSYCHOLOGICAL FACTS

1st factor

तो सबसे पहले है आइक्यू क्योंकि आईक्यू एक ऐसा फैक्टर है जो हमें एक इंडिविजुअल की प्रॉब्लम सॉल्विंग कैपेबिलिटी के बारे में बताता है इसके साथ ही हर टाइम बदलते मार्केट और एक कॉन्प्लेक्स डिसीजन के लिए आइक्यू जरूरी होता है एग्जाम के तौर पर इस artical में गैरीमेंनेचक जोकि एक अमेरिकन Entrepreneur है वह समझा हैं कि कैसे डे टुडे बेसिक पर अपने इतने कॉन्प्लेक्स डिसीजन लेने होते हैं

2nd factor

सेकंड करैक्टर स्टिक है विलिंग्नेस तू टेक रिस्क एंड परसिस्टेंस क्योंकि unless एक इंसान काफी लकी है और उसे पर ट्राई में काफी success ज्यादातर लोग कई बार फेल होते हैं और एक Entrepreneur ऐसी गेम है जहां पर हमारी ज्यादातर आइडिया इतना कंपटीशन होने की वजह से किसी के नोटिस मैं भी नहीं आते .

अगर हम फेल होने की रिस्क के वजह से किसी आइडिया को एक्जिक्यूट ही नहीं करते तो फिर हमारे अंदर कितने भी Entrepreneurship हो हम कभी भी कैक्टस नहीं देख पाएंगे डेट्स वाय रिस्क टेकिंग एंड परसिस्टेंट गो हैंड इन हैंड एग्जांपल के तौर पर दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक इवेंट में सुंदर पिचाई ने समझा की रिस्क लेना और बार-बार फेल होना कितना जरूरी होता है

3rd factor

थर्ड करैक्टेरिस्टिक सेकंड से ही रिलेटेड है वह यह है सक्सेसफुल एंटीनारप्रेन्योर्स वाइट रेंज ऑफ इंटरेस्ट की वजह से किसी एक चीज पर ही फोकस नहीं करते यानी वह एक टाइम पर काफी गेम खेल रहे होते हैं और उन्हें मजा आता है कंटेनरली डिफरेंट प्रॉब्लम को सॉल्व करने में .

यह क्वालिटी उनकी लेटेस्ट थिंकिंग कैपेबिलिटी का रिजल्ट हो सकती है यानी जब है एक आइडिया के बारे में सोच रहे होते हैं तो उसके साथ वह साइमनटेस्टली उस आइडिया को बाकी आईडियाज और अपॉर्चुनिटी के साथ जोड़कर देख रहे होते हैं और यह एबिलिटी उनकी आइडिया को यूनिक और एक नए वे में यूज़फुल बनाती है तो चाहे वह एक टाइम पर एक चीज को बिल करने में फोकस करें या फिर कहीं चीजों को एक साथ एक ट्रू एंटीनारप्रेन्योर्स कभी भी एक चीज पर फोकस नहीं करता एग्जांपल में गैरी यहां पर बता रहा है कैसे वह चाह कर भी एक चीज पर फोकस नहीं कर सकता .

4th factor

फोर्थ कैरेक्टर स्टिक है हाई ओपननेस एंड हाई कॉन्शियसन्यास नाउ यहां पर हम बात कर रहे हैं उनके पर्सनैलिटी ट्रेस की तो ओपन होने का मतलब होता है ओपननेस टू एक्सपीरियंस एक्सपीरियंस ट्रेट मैं हाई होना यह वह पर्सनैलिटी टेस्ट होता है जो क्रिएटिविटी इंटेलेक्ट क्रियोसिटी और इंटरेस्टिंग आईडियाज से रिलेटेड होता है डेट्स वाय एंटीनारप्रेन्योर्स एक आर्टिस की तरह भी होता है और कॉन्शियसन्यास वह ट्रेट होता है जो हार्डवर्क ऑर्डरलीनेस सेल्फ डिसीप्लिन और अचीवमेंट स्ट्राइविंग से रिलेटेड है .

इन दोनों ट्रेड्स में से ओपननेस तो must है यह दोनों ट्रेड्स एक दूसरे को आपॉज करते हैं भास्कर लाइक ओपननेस रिलेटेड है लिबरलिज्म से और कॉन्शियसन्यास रिलेट है कंजरवेटिवज्म से सो अगर एक इंडिविजुअल कॉन्शियसन्यास यानी हार्ड वर्किंग और ऑर्डरली नहीं है.

तो उसके लिए बेस्ट ऑप्शन यह होता है कि वह एक ऐसा पार्टनर ढूंढ ले जिसमें यह सारी क्वालिटीज हैं क्योंकि किसी भी सक्सेसफुल बिजनेस ऑर्गेनाइजर में हाईलाइट लोग भी चाहिए पर इन क्रिएटिव आइडिया इंप्लीमेंट करने वाला कोई नहीं है तो वह ऑर्गेनाइजर फिर हो जाएगी फॉर एग्जांपल इज डिस्कशन में साइकोलॉजी जॉर्डन पीटरसन और एक एंटीनारप्रेन्योर्स के बीच डिस्कशन हो रही है कि क्यों हाई ओपननेस और हाई कॉन्शियसन्यास इतने अलग होने के बावजूद भी एक बिजनेस में कितने जरूरी होते हैं

5th factor

Fifth करैक्टर स्टिक है इमोशनल एबिलिटी यानी सक्सेसफुल Entrepreneur को डेली बेसिस पर काफी स्ट्रेस डील करना पड़ता है और तभी उनमें इमोशनल एबिलिटी होना जरूरी है जिनसे उनकी हैप्पीनेस कंडीशनर नहीं बनती ऐसा नहीं होता कि अगर उनकी काम अच्छा चल रहा है तो खुश है पर जैसे उनके हाथ से 1 डील निकली कि वह एंग्री हो जाए और उनकी इमोशनल एक रोलर कास्टर की तरह दिखाई दे .

यह बस हमें लगता है कि जो भी लोग हाईलाइट के टॉप पर होते हैं उनकी लाइफ काफी इजी और स्ट्रेस फ्री होती है बट रियल्टी इसके ऑपोजिट है क्योंकि उस लेवल पर हमारे पास काफी रिस्पांसिबिलिटी होती है जो हमें काफी डिप्रेशन की ओर push कर सकती है और तभी हर इंसान एक सक्सेसफुल नहीं बनना चाहता है .

बिकॉज मोर सक्सेस = मोर रिस्पांसिबिलिटी foe example इंटरव्यू में elon musk बता रहा है कि कैसे 2008 की रिसेप्शन के टाइम पर उसकी दोनों कंपनी यानी स्पेस औटेस्ला बंद होने के कगार पर थी जिसक स्ट्रेस की वजह से उसे लगने लगा था कि वह पहली बार नर्वसनेस कितने करीब आया है

6th factor

सिक्स और लास्ट कैरेक्टर स्टिक है पैशन बिकॉज अगर हम पहले 5 रिकॉर्ड कैरेक्टर को देखें तो एक same नो नॉर्मल इंडिविजुअल कभी भी इतना स्ट्रेस रिस्पांसिबिलिटीज और प्रेशर क्यों चाहेगा और क्यों कोई कस्टर्सनली हार्ड वर्क करेगा बट एक पैशन इंडिविजुअली के लिए यह कोई भी ऑप्शनल इनके ड्रीम से बढ़कर नहीं होता कई लोगों के पैशन को सक्सेस के साथ आने वाली फ्रीडम मनी और ऑप्शन फीड करते हैं पर ऑलमोस्ट हर Entrepreneur का पैशन उसके डीएनए में होता है जिसे प्रिंटिंग और एनवायरमेंट दोनों इन्फ्रेंस करते हैं

यह भी पढ़ें :-

1.पहली डेट पर लड़की को इंप्रेस कैसे करें

2.लड़की देख कर हंस रही है तो क्या करें उसे गर्लफ्रेंड कैसे बनाएं

3.Jhute pyar ki nishaniyan | 3 signs of fake love

3 thoughts on “| Psychological trick of successful businessman|एक Entrepreneur को कौनसे Psychological trick successful बनाते हैं”

Leave a Comment