फादर्स डे क्यों मनाया जाता है? History of Fathers Day in Hindi

हर साल जून महीने के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है। इस साल 21 जून को फादर्स डे है। इसे सबसे पहली बार अनिधिकृत रूप से 1907 में मनाया गया था। जबकि आधिकारिक रूप से इसे पहली बार 1910 में मनाया गया था। फादर्स डे को मनाए जाने को लेकर जानकारों में मतभेद है। इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य पिता के कर्तव्यों के निर्वहन के लिए उनक प्रति सम्मान और आभार व्यक्त करना है। आइए, फादर्स डे का इतिहास जानते हैं-

Healthy Activities to do With Your Dad for Father's Day | ScrippsAMG

फादर्स डे का इतिहास
फादर्स डे को मनाए जाने को लेकर दो मत हैं। पहले मत के अनुसार, वर्जीनिया के खनन उद्योग में विस्फोट से 210 श्रमिकों की मृत्यु हो गई थी। उस समय लोगों ने यह निश्चय किया कि मारे गए श्रमिकों को श्रद्धांजलि विशेष रूप से दी जाएगी। उसी साल 19 जून, 1907 को पहली बार मारे गए श्रमिकों के प्रति संवेदना प्रकट करने के लिए फादर्स डे मनाया गया। हालांकि, इसकी आधिकारिक रिकॉर्ड मौजूद नहीं रहने के कारण लोग सोनोरा स्मार्ट डोड के प्रयासों को सच मानते हैं।

दूसरे मत के अनुसार, सोनोरा स्मार्ट डोड जब छोटी थी तो उनकी मां का आकस्मिक निधन हो गया। इसके बाद डोड की देखभाल उसके पिता विलियम स्मार्ट ने की। एक दिन जब डोड प्रार्थना सभा में मौजूद थी तो चर्च के बिशप ने मातृत्व शक्ति पर धर्म उपदेश दिया। इस उपदेश से डोड काफी प्रभावित हुई।

उस समय डोड ने मदर्स डे की तर्ज पर फादर्स डे मनाने की सोची। इसके बाद 19 जून 1909 को पहली बार डोड ने फादर्स डे मनाया। हालांकि, लोगों ने डोड का खूब उपहास किया, लेकिन समय के साथ लोगों को पिता के निःस्वार्थ सेवा और समर्पण की अहमियत का पता चला। इसके बाद लोग मिलजुल कर 19 जून को फादर्स डे मानाने लगे।

जबकि सन 1924 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति कैल्विन कोली ने फादर्स डे को अपनी सहमति दे दी, जिससे फादर्स डे मनाने का रास्ता खुल गया। इसके चार दशक बाद राष्ट्रपति लिंडन जानसन ने 1966 में यह घोषणा की कि फादर्स डे हर साल जून महीने के तीसरे रविवार को मनाया जाएगा। उस समय से हर साल यह जून महीने के तीसरे रविवार को मनाया जाता है।

Leave a Comment